50+ Best Gulzar Shayari Hindi Hd Image Free Download | Gulzar Shayari in Hindi

इस पोस्ट में हम गुलजार साहब की शायरी का बेहतरीन कलेक्शन शेयर किए हैं. इस पोस्ट में 50 से भी अधिक गुलजार शायरी आप पढ़ने को मिल जाएगी साथ में गुलजार शायरी फोटो फ्री में डाउनलोड कर सकते हैं. इस पोस्ट में आपको "gulzar love shayari in hindi 2 lines" "gulzar shayari hindi images" "gulzar shayari hindi photo download" "gulzar shayari hindi pic download" "gulzar shayari hindi" "gulzar shayari in hindi 2 lines" "gulzar shayari in hindi pic" "gulzar shayari in hindi" "gulzar shayari on life in hindi" "gulzar shayari on life" "gulzar shayari on love" "heart touching gulzar shayari" "motivational gulzar shayari" "romantic gulzar shayari" "romantic love gulzar shayari" आदि पढ़ने को मिलेगी.


खामोशियाँ बोल देती है,
जिनकी बातें नहीं होती,
इश्क वो भी करते है जिनकी,
मुलाकातें नहीं होती.

gulzar love shayari in hindi 2 lines


कुछ यूँ ही चलेगा,
तेरा मेरा रिश्ता उम्र भर,
मिल गए तो बातें लम्बी,
न मिले तो यादें लम्बी.





सिर्फ तूने ही कभी मुझको,
अपना नहीं समझा,
जमाना तो आज भी मुझे,
तेरा दीवाना कहता है.


Gulzar Shayari in Hindi



हमने भी एक ऐसे इंसान को चाहा,
जिसे भूलना हमारे बस में नहीं,
और पाना किस्मत में नहीं.







बहुत अजीब है,
ये बंदिशें मोहब्बत की,
न उसने कैद में रखा,
न हम फरार हुए.





लाजमी है तेरा खुद पर गुरुर करना,
हम जिसे चाहे वो,
मामूली हो भी नहीं सकती.



माना कि तेरी नजर में,
कुछ नहीं हूँ मैं,
मेरी कदर उनसे पूछो,
जिनको पलट कर कभी नहीं देखा मैंने,
सिर्फ तुम्हारे लिए.





gulzar shayari hindi images


अगर मोहब्बत उनसे ना मिले,
जिनको आप चाहते हो,
तो मोहब्बत उनसे जरूर कर लेना,
जो आपको चाहते हे.





हमने भी एक ऐसे इंसान को चाहा,
जिसे भूलना हमारे बस में नही,
और पाना किस्मत में नहीं.


तुम उलझे रहे हमें,
आजमाने में,
और हम हद से गुजर गए,
तुम्हें चाहने में.


कैसे ना हो,
इश्क उनकी सादगी पर ए-खुदा,
खफ़ा है हमसे मगर करीब बैठे है.




gulzar shayari hindi photo download


माना कि जायज नहीं है,
इश्क तुमसे बेपनाह करना,
मगर तुम अच्छे लगे तो,
ठान लिया ये गुनाह करना.





तलब ऐसी… कि साँसों में समा लू तुझे
किस्मत ऐसी कि देखने को मोहताज हूँ तुझे.





कौन शरमा रहा है आज,
यूँ हमें फुर्सत में याद करके,
हिचकियाँ आना तो चाह रही है,
पर हिच-किचा रही है.





कास तुझे मेरी जरूरत हो
मेरी तरह, और मैं नजरअंदाज करूँ
तुझे तेरी तरह.



gulzar shayari hindi pic download


तुम इसलिए किसी को चाहते हो कि,
वो भी तुम्हें चाहे,
तो तुम्हारी चाहत व्यर्थ हुई,
क्योंकि चाहत में कोई चाहत नहीं होती.





अच्छा नहीं लगता,
बार-बार किसी को अपनी याद दिलाना,
अगर अहमियत होगी तो लोग खुद याद कर लेंगे.

गुलजार साहब की शायरी



मैंने खोया वो,
जो मेरा था ही नहीं,
पर उसने खोया बो जो,
सिर्फ और सिर्फ उसी का था.





नाराजगी भी एक खूबसूरत रिश्ता है,
जिससे होती है,
वो दिल और दिमाग,
दोनों में रहता है.





कोई फर्क नहीं पड़ता कि,
तुमने किसे चाहा और कितना चाहा,
हमें तो ये पता है कि,
हमने तुम्हें चाहा और बेपनाह चाहा.







सुनो बेपनाह मोहब्बत हे तुमसे,
अब तुम पास हो या दूर,
क्या फर्क पड़ता हे.



gulzar shayari hindi



चेहरा तो मिल जाएगा,
हमसे भी खूबसूरत,
पर जब बात दिल पे आएगी,
तो हार जाओगे.





कितना भी मशरूफ करलो तुम खुद को,
मेरे नाम का एक लम्हा,
तुम्हारे वक़्त को जरूर चुराता होगा.





मान लिया,
नहीं आता मुझे मोहब्बत जताना,
नादाँ तो तुम भी नहीं,
समझ न सको शायरियों में जिक्र तुम्हारा.





तलब ऐसी,
कि साँसों में समा लू तुझे,
किस्मत ऐसी कि,
देखने को मोहताज हूँ तुझे.





gulzar shayari in hindi 2 lines


जा जाने क्यों रेत की
तरह निकल जाते है
हाथों से वो लोग,
जिन्हें जिंदगी समझकर हम
कभी खोना नहीं चाहते.








इश्क उसी से करो
जिसमें खामियां बेशुमार हो,
ये खूबियों से भरे चेहरे
इतराते बहुत है.





आग लगा दी,
आज उस किताब को मैंने,
जिसमें लिखा था मोहब्बत,
अगर सच्ची हो तो मिलती जरूर है.






खुशकिस्मत है नफरत उनकी,
जिस पर सिर्फ हमारा हक़ है,
वरना प्यार तो वो सारी दुनिया को करते है.

 



gulzar shayari in hindi pic


मशहूर होने का शौक,
किसे है जनाब,
हमें तो हमारे ही,
पहचान ले तो,
हम खुश हो जाते है.






पहली बार देखा था उसे,
गुस्सा करते हुए,
अच्छा लगा था उसका,
मुझपे हक् जताते हुए.










हर बात पर जब छलकने,
लगे आँखों से आँसू,
तब समझना मजबूत बनने,
की जिद में टूट रहा है,
कोई धीरे धीरे.




मेरे लिए मायने मोहब्बत,
के बस इतने है,
कि तुम खुश रहो तो,
मैं भी खुश हू.




gulzar shayari in hindi



ये सोचकर की वो,
खिड़की से झाँक ले,
उसके गली के बच्चे,
आपस में लड़ा दिए मेने.




पहली मोहब्बत,
मुकदमे की तरह होती हे,
ना खतम होती हे,
ना इंसान को,
बाइज्जत बरी करती हे.




gulzar shayari on life in hindi




जरुरी नहीं हर ख्वाब,
पूरा हो,
सोचा तो उसे ही जाता हे,
जो अधूरा हो.




मेरे पास आने के लिए,
भी तुम हो,
और खोने के लिए भी,
तुम ही हो.





gulzar shayari on life


दूसरा मौका सिर्फ,
मोहब्बत को दिया जाता हे,
जिस शख्स से,
मोहब्बत थी उसे नहीं.


Gulzar sahab shayari



जो जाहिर करना पड़े,
वो दर्द कैसा,
और जो दर्द न समझ सके,
वो हमदर्द कैसा.




सारी उम्र तुझे मेरी कमी रही हे,
रब करे तेरी उम्र बहुत लम्बी रहे.






gulzar shayari on love



सबके सामने हाथ पकड़,
लेता हे तुम्हारा,
ये चूड़ीवाला भी एक दिन ,
मार खायेगा मुझसे.



heart touching gulzar shayari



बार बार ज़ुल्फो को,
कानों से हटा रहे हे वो,
लाए हे हम उनके लिए झुमके,
सबको बता रहे हे वो.




motivational gulzar shayari




तू साथ नहीं,
पर हमेशा रहोगी…
एक वजह है,
तुझे बेवजह चाहने की.




romantic gulzar shayari





प्यार में कितनी बाधा देखि,
फिर भी कृष्ण के संग राधा देखि.




दुपट्टा क्या रख लिया सर पे,
वो दुल्हन नजर आने लगी,
उसकी तो अदा हो गयी,
जान हमारी जाने लगी.








जो उम्र भर भी न मिल सके,
उसे उम्र भर चाहना इश्क हे.







मेरा हक़ नहीं है तुम पर,
ये जानता हु में,
फिर भी न जाने क्यों,
दुआओ में तुझको मांगना,
अच्छा लगता हे.







romantic love gulzar shayari

इश्क उसे भी था,
इश्क मुझे भी था,
कम्बख्त,
उम्र बिच में आगई.




हसरते पूरी न हो तो,
न सही,
पर ख्वाब देखना कोई,
गुनाह तो नहीं.








गुलज़ार एक अहसास
बड़ी नादानी से पूछा उन्होंने,
क्या अच्छा लगता हे,
हमने भी धीरे से कह दिया,
एक झलक आपकी.


Post a Comment

0 Comments